आयो नून के बिक्री मोल ऐकखानी के ना भईला से उपभोक्ता ठगाए प बाध्य

161

वीरगंज १८ माघ,

सरकारी स्वामित्व में रहल साल्टट्रेडिङ कर्पोरेसन लिमिटेड से बेंचेवाला आयोडिनयुक्त नून के बिक्री मे एकरुपता ना अइला से उपभोक्ता ठगाए मे बाध्य भइल बाडन ।

लिमिटेड के अञ्चल कार्यालय आपन आठ गो डिलर मार्फत उ आयोडिन नून पर्सा जिल्ला मे बिक्री करत आइल बा । उ कार्यालय डिलर के उपभोक्ता मूल्य प्रतिकिलो रु २० तक मे बिक्री करे खातिर निर्देशन देहला पर भी डिलर तथा विक्रेता रु २२ से रु २५ तक के बेंचला से उपभोक्ता ठगात आइल बाडन ।

डिलरलोग ढुवानी खर्च के नाम मे सरकार से तोकल बिक्री दाम से प्रतिकिलो रु पाँच तक बेसी नाफा लेके बेंच रहला से सर्वसाधारण ठगात आइल वीरगंज महानगरपालिका वार्ड नं १९ बर्गागोग के उपभोक्ता रामाशंकर चौरसिया के कहनाम रहे ।

नेपाल मे आयोडिनयुक्त नून के भाव ना बढला करीब चार बरीस भइल बा माकिर डिलर बेसी दाम लेके बेंच रहला से खुद के जानकारी ना भइल बतावत अञ्चल प्रबन्धक अमोज लामिछाने कहनी कि, “भाडा दर तथा ढुवानी खर्चिलो भइला से डिलर बेसी दाम मे नून बेंचत आइल बाडन ।”

नेपाल–भारत बीच रहल खुला सीमा के चलते भारत से आवेवाला सस्ता दाम के नून प्रयोग पर्सा के दुर्गम तथा सीमावर्ती गाँव मे हो रहल बा । जिल्ला के दुर्गम गाँव तक आयोडिन नून पुगे ना सकला पर भारतीय नून खाए खातिर सीमावर्ती गाँव के बासिन्दा बाध्य भइल छिपहरमाई गाँवपालिका के भेडिहर्वा के रामजी कानु बतवनी ।

उ कार्यालय आयोडिनयुक्त नून के कमी से होखेवाला अनेकन बेमारी तथा विकृति सम्बन्ध मे हरेक बरीस जनचेतनामूलक कार्र्जक्रम कइला पर भी डिलर सुदूरग्रामीण तथा दुर्गम गाँव तक आयोडिन नून पुगावे ना सकला से बाध्य होके सीमा क्षेत्र के बासिन्दा भारतीय नून प्रयोग करेमे बाध्य भइल उपभोक्ता राजु राउत के कहनाम रहे ।

उ कार्यालय जिल्ला मे आर्थिक बरीस २०७३/०७४ मे एक लाख तीन हजार ६३४ बोरा तथा आर्थिक बरीस २०७४/०७५ मे एक लाख ४३ हजार बोरा आयो नून बिक्री कइले रहे ।

advertisement

राउर टिप्पणी

राउर टिप्पणी लिखी
Please enter your name here