झूठा अपहरण में प्रहरी पीड़ित के ही पकड़लख, अपहरण साच में भइल पीड़ित के दावा

    326
    प्रहरी हिरासत में रहल उपनेश चौरसीया (बाँया) आ सनुप दास(दायाँ)।

    आस, वीरगंज । श्रावण १६

    बितल १४ गते यानि मंगर के वीरगंज के घंटाघर से पर्सा बिन्दवासिनी गाँवपालिका वडा नं. ४ मधवल निवाशी तरुणदल कें कार्यकर्ता उपनेश चौरसिया के कुछ अज्ञात आदमीसब के झुण्ड अपहरण करके रक्सौल ले गइल घटना झूठा रहल क़हत अपहरण पीड़ित सहित २ जने के नियंत्रण में लेहल गइल पर्सा पुलिस जनवले बा ।

    अपहरण के घटना खुद से रचल गइल आ साथी लोग के संगे मिलके अपहरण के अफवाह फैलावल गइल क़हत अपहरित ब्यक्ति चौरसिया के ही पुलिस नियंत्रण में लेहले बा । मंगर के अपहरण के बाद आजू बियफ़े के पीड़ित चौरसिया खुद से ही एस पी कार्यालय में उपस्थित भइला के बाद चौरसिया पर झूठा अपहरण के संका में पकडल गइल पर्सा के एसपी सोमेन्द्रसिंह राठौर जानकारी देहले बानी ।

    मंगर के पीड़ित चौरसिया खुद से ही मोटरसाइकल चलाके आपन संघतिया उहे गाँव के रहनियार वर्ष २८ के उत्तम उर्फ निरंजन तिवारी आ वर्ष २८ के एजाजुल मिया अंसारी सहित भारत के रक्सौल स्थित श्याम ईन्टरनेशनल नाम के होटल के रूम नं.५ में रहल रहे लोग । आ उहवे दोसर संघतिया उहे गाँव के वर्ष २१ के सनुप दास तत्वा के भी बोला के खुद के अपहरण में परल के योजना बानके उहे दिन सनुप दास के विरगंज भेज के उपनेश चौरसिया के अपहरण भइल कहके हल्ला फैलावल गइल पर्सा पुलिस जनवले बा ।

    अपने अपहरण अपने संघतिया लोग के जरिए झूठा हल्ला फैलावल गइल के आरोप में पीड़ित चौरसिया आ हल्ला फैलावे वाला सनुप दास के नियंत्रण में लेके आवश्यक थप अनुसंधान हो रहल पर्सा पुलिस द्वारा जारी भइल फ्रेश विज्ञप्ति में जनावल गइल बा । बाकीं निरंजन तिवारी आ एजाजुल मिया घटना के प्रकाश में आइला बाद से फरार रहल आ ओह लोग के भी खोज तलास हो रहल पर्सा पुलिस जनवले बा ।

    ओने अपहरण में परल ब्यक्ति उपनेस चौरसिया अपहरण के चंगुल से भाग के परिवार के संपर्क में आइला बाद पुलिस के सूचना देवे गइला पर अंसुहातों पुलिस खुद के ही पकड़ के दुख देरहल पीड़ित के परिवारजन बतवले बा ।

    पीड़ित चौरसिया के बाबू जी जंगबहादुर चौरसिया पीड़ित उपनेस से बात कइला पर अपहरण सही में भइल रहस्य बतावत कहले, ‘रक्सौल तक सब ठीक रहे माकिर ओकर बाद सचो के उनकरे संघतिया लोग अपहरण कर के भारत के बेतिया सहर के लगे एक गाँव में उनका के लेजा के रखले रहे लोग माकिर १५ गते के रात में पीड़ित चौरसिया कोठरी के वेंटिलेटर वाला खिड़की से भाग निकले में सफल रहले । राते के टेम्पो से बेतिया आ बेतिया से सिकटा, भिस्वा होत वीरगंज आइल रहले ।

    अपहरण के २ दिन भइल ना तले पीड़ित खुद से पुलिस के संपर्क में अइला पर पूरा घटना संकास्पद रहल मान लेहला के चलते पुलिस उनका के पकडले बा परिवारजन के आरोप रहे । ओने पुलिस पूरा घटना पर थप अनुसंधान हो रहल बतवले बा ।

    advertisement

    राउर टिप्पणी

    राउर टिप्पणी लिखी
    Please enter your name here