ठण्डां से लइकन कोल्ड डाइरीया, निमोनीया आ सर्दि से ग्रसित

40

वीरगंज, पुस २५

जाडा के मौषम मे लैकनसब मे अभी कोल्ड डाइरीया, निमोनीया आ खोकि कफके समस्या सब लउकल बा । अभी के ठण्डां के मौषम मे छोट छोट लैकनसब के देखभाल के कमी, एलर्जि, भाइरस के संक्रमण के कारण बेमारी संगे लडेके क्षमता भी कमजोर भइला से लैकनसब मे अइसनका समस्या भइल बालरोग विशेषज्ञसब के कहनाम बा ।

जाडा से लैइका बेमार भइला बाद अस्पताल मे इलाज करावे आइल बारा खुटुवा प्रसौनी के प्रिंयका देवी आपन दुःख सुनावत कहनी लईका के ठंण्डा से पेट झरेलागल ओकरा बाद १ बेर उल्टि भी भइल तब हल्का बोखार लागला बाद बौवा अचानक से दूध पियल छोडला बाद हम हस्पिटल मे लेके अइनी त एतहा डाक्टर चेकअप करके कहनी कि लईका के कोल्ड डाइरीया भइल बा ।

अधिकतर जाडा मे बेसी करके लैकन सबमे कोल्ड डाइरिया (पेटझरी) निमोनिया खोकि बोखार जैसनका समस्या लौके लागेला । ई ६ महिना एने २ वरष तकके लैकन मे विशेष करके होखल करेला । मुख्य कारण लइका के गारजियनसब आपन भी व्यक्तिगत सफाइ मे ध्यान ना देहल, माई साबुन पानि से बिना हात धोवले स्तनपान आ औरी खाएवाला चिज खियावे के, लईका हात साफ ना करके मुहमे लगावेके (चुसेके) फुहड हातसे खाएवाला चिज खाएके जैसनका कारण से कोल्ड डाइरीया होखल करेके बाल रोग विशेषज्ञ डा. आनन्द कुमार झा के कहनाम बा ।

विशेष करके ६ महिना से निचेके लइकन मे निमोनिया के बेसि डर होखल करेला । लईकन के नाक मुह साफ ना करेके, बहुते कपडा लगा देवेके जेकरा कारण देहमे ही पसिना आके सुकजाला जवन की एकदम ही ना निमन हवे एहतरे लैकन मे निमोनिया होखल करेके बालरोग विशेषज्ञ डा.अशोक दास के कहनाम बा ।

डा.दास के अनुसार जाडा मे गरम राखे खातिर बहुते कपडा लगा देवेके, फुहड कपडा लगादेह ला बाद भी लइकनसब बेमार होखल करेके संभावना बेसि रहेला । जाडा के मौषम मे स्वस्थ रहेला लइकन ही ना बल्कि सभी के सावधानी अपनावल जरुरी रहेला । धुवाँधुरा मे चलला बाद माक्स लगावे के, सुसुम पानि पिए के, सरसफाइ मे ध्यान देवेके साथे सिगरेट ना पियलासे बडका आदमीसभन भी श्वासप्रश्वास सम्बन्धी बेमारीसब से बाच सकके डा. प्रविण कुमार सिंह के कहनाम बा । छोट लइकनसब मे रोग प्रतिरोधात्मक क्षमता कम भइला से लइकन के घर मे भी सुरक्षित किसिम से देखभाल कइल जरुरी रहेला ।

दु लइकन के माई वीरगन्जपानी टंकी निवासि सावित्री रोका कहेनी की लइका के घरमे ही निमन से देखभाल कइलाबाद ठण्ठा से जोगावल जासकता । अभी के समयमे लइका के गरम आ ताजा खाएवाला चिज खियावल जाला । माई आपन लइका के सरसफाई मे भी ध्यान देहल करी हमेसा नाहियो नहवइला पर भी सुसुम पानि मे डिटवल डाल के देह साफ करके कपडा लगा देहल ठिक रहेला।

दुध पियाएवालि माई आपन खानपान मे बेसि ध्यान देहला के साथे एक घण्टा डेढ घण्टा के अन्तराल मे आपन दुध पियावल ठिक रहेला । तुलसी काडा मध जैसन घरायसी खाएवाला सामान खाएदेवे के चाहि । वीरगंजके नारायणी उपक्षेत्रिय अस्पताल मे इलाज के खातिर आईल रोजाना सय जने लइकनसब मेसे ७० जने मे कोल्ड डाइरीया, निमोनीया आ कफ खाकि-बोखार के समस्यासब लौकल नाउक्षे के सुचना अधिकारी रमेश चौधरी बतवले बानि ।प्रतीक दैनिक

advertisement

राउर टिप्पणी

राउर टिप्पणी लिखी
Please enter your name here