The biggest Bhojpuri digital media of Nepal

डा. हिमकर के ‘रमबोला’ पर शुल्क सहित के भोजपुरी एकल काव्य पाठ सफलतापूर्वक वीरगंज मे समापन

वीरगंज मे शुल्क सहित के भोजपुरी काव्य पाठ पर एगो  निमन प्रयोग आ सफलतापूर्वक सफल

वीरगंज, १८ जेठ ।

भोजपुरी आ हिन्दी के वरिष्ठ कवि डा. हरीन्द्र हिमकर के वीरगंज मे आजू भोजपुरी मे एकल काव्य पाठ पूरा भइल । वीरगंज के वीरगंज पब्लिक कालेज के सभागृह मे नेपाल भोजपुरी समाज वीरगंज के आयोजना मे भोजपुरी के वरिष्ठ कवि डा. हरेन्द्र हिमकर के तुलसीदास पर लिखल भोजपुरी खण्डकाव्य ‘रमबोला’ के एकल पाठ आजू लेखक द्वारा सफलता पूर्वक समापन भईल ।

नेपाल मे ही ई पहिला काव्य पाठ होई जाहाँ युगल जोड़ी लोग शुल्क दे के भोजपुरी काव्य पाठ सुने अइल लोग । नेपाल भोजपुरी समाज के सचिव ऋतुराज आपन वीरगंज से बात करत बतवनी की डा. हिमकर के एकल काव्य पाठ खातिर जेकरा के भी नेवतल रहे सभे कोई के शुल्क दे के काव्य पाठ सुने के पड़ी पहिले ही कह देहल गइल रहे ।

वीरगंज मे भोजपुरी भाषा के उत्थान आ बिकास मे लागल नेपाल भोजपुरी समाज के ई पहिलका काव्य पाठ के आयोजना रहे जाहाँ शुल्क दे के आवे के कहल रहे आ लोग शुल्क दे के युगल जोड़ी मे आ के ई कार्जक्रम के सफल भी बनवले लोग ऋतुराज बतवनी ।

पुरुष के लगभग बराबरे मे महिला लोग के भी यी कार्जक्रम मे सहभागिता रहे । नेपाल भोजपुरी समाज के अध्यक्षता आ सतम्भकार एवम वरिष्ठ पत्रकार चंद्रकिशोर के भूमिका मे भइल यी एकल काव्यपाठ के उद्धघोष रितेश त्रिपाठी, समीक्षा अनीता साह (शिक्षिका, कवियीत्री)/कमलेश कुमार (शिक्षक) कईले रहले लोग । अनेकन साहित्यकार, कलाकार, लेखक सहित साहित्य आ लेखन मे मे रुचि राखेवाला लोग के बढ़िया उपस्थिती रहल ।

सीमित संख्या आ सीमित समय के सीमा मे शुल्क ले के कईल गईल भोजपुरी काव्य पाठ भोजपुरी भाषा खातिर एगो निमन आ सफल प्रयोग साबित भइल नेपाल भोजपुरी समाज के सचिव ऋतुराज जानकारी करवनी ।

प्रतिकृया
Loading...