दहेज पीड़िता आ घरेलू हिंसा के सीकार पीड़िता रञ्जु साह के न्याय लाय खड़ा भईल वीरगंज के कानू समाज

    883

    बिरगंज, ६ कुवार ।

    वीरगंज रानी घाट १० ससुराल रहल दहेज आ घरेलू हिंसा सहत आईल पीड़िता रञ्जु साह कानू के पक्ष मे कानू समाज आजू सबेरे घड़ियार्वा पोखरा मे कानू समाज के नगर अध्यक्ष दीपेन्द्र प्रसाद साह कानू के अध्यक्षता मे बईठल बैठक मे पीड़ित पक्ष के न्याय दिलावे खातिर पीड़िता के साथ खड़ा रहे के निर्णय कईले बा ।

    कानू समाज के भरभलादमी लोग के रहबर मे यी निर्णय कईल गईल पीड़िता के जेठ भाई अशोक साह जानकारी करवले । बैठक मे बिपक्षी के अनुपस्थिति से साफ साफ पता चलल की उ सब कसूरवार बा लोग समाज के कहनाम रहे । कानू समाज के बारम्बार बोलावला पर भी बैठक मे ना आइला के वजह से ही कानू समाज यी आगा के कदम उठवलख । कानू समाज के बैठल बैठक मे पीड़िता पक्ष के भाई के साथ साथे पीड़िता रञ्जु साह के भी दुख दर्द सुनत कानू समाज बिपक्षी जोखू साह कानू के परिवार के सामाजिक बहिस्कार के साथे साथे अनेकन निर्णय के साथ पीड़िता के पक्ष से लड़े के खाड़ा होखे के निर्णय कईलख ।

    कानू समाज सब से पहिले पीड़िता रञ्जु साह के शान्ति सुरक्षा दीउवावे के साथे साथे पीड़िता पक्ष के गरगहना, कपड़ालता आ उनका रूम मे रहल सरसमान उपलब्ध करावे के जिल्ला प्रशासन से मांग करे के निर्णय कईलख । बिपक्ष के उपर पर्सा जिल्ला प्रहरी मे देहल जाहेरी उपर जल्दी से जल्दी करवाही करे के मांग करे के निर्णय कईल गईल । एक पक्ष के बात सुनके वीरगंज के कालिका टाइम्स आ साहरा दैनिक संचार माध्यम मे लिखला के कारण सामज मे परल कानू समाज प्रति के नकारात्मक असर के ले के कालिका टाईम्स आ साहरा दैनिक के बिरोध मे कानू समाज घोर निन्दा कईलख ।

    दहेज पीड़िता आ घरेलू हिन्सा के सीकार रञ्जु केस के बिस्तार मे जानकारी

    वीरगंज स्थिति रानी घाट १० ससुराल रहल दहेज आ घरेलू हिन्सा की सीकार बनत आईल रञ्जु साह कानू पीड़ा के दर्द असहनीय भईला पर जिल्ला प्रहरी कार्यालय पर्सा मे नालिस देहले बाड़ी । पर्सा जिल्ला प्रहरी मे देहल जहेरी से अब जल्दी से जल्दी प्रहरी के सक्रिय भूमिका से न्याय मिले के आस जोह रहल बाड़ी ।

    पर्सा जिल्ला झौवागूठी वाड नम्बर ३ अभी वीरगंज महानगरपालिका वाड नम्बर १० रानीघाट निवासी जोखू साह के जेठ बेटा गोबिन्द साह कानू से बारा जिल्ला शीतलपुर घर रहल रञ्जु साह कानू के हिन्दू रीतिरिवाज के हिसाब से २०६० बैशाख २० गते विवाह भईल रहे । विवाह के अढ़ाई साल बितला के बाद वॉशिंग मसिन आ फ्रिज दहेज देवे के मांग भईल रहे ओकरा बाद रञ्जु के पहिलका बच्चा पेट मे रहल समय गोबिन्द साह कानू कहले अभी अगर हमार वियाह होइत त केतना दहेज मिलित क़हत रञ्जु के नैहर पक्ष से मोटरसाइकिल आ कूलर जईसन समान मांगे के दबाब बनावे लगले ।

    बाद मे पीड़िता रञ्जु के उपर अनेकन किसिम के अशान्ति के माहोल खड़ा कर के छोटमोट बात पर भी मारपीट करे के आ पीड़िता रञ्जु के शारीरिक आ मानसिक यातना देवे के काम शुरू कईले रहे लोग एही क्रम मे २०६६ साल यीहे कुवार के महिना मे ही मूस मारेवाला दवाई खाए के मजबूर कर देहला पर पीड़िता दवाई खा के मरे के प्रयास भी कईले रहली पीड़िता के सहोदर भाई जानकारी करवले ।

    ओह बेरा मजबूरी मे पर्सा जिल्ला प्रहरी कार्यालय मे निवेदन दर्ता करा के प्रहरी के ही रहबर मे सम्झौता कर के फेर पीड़िता रञ्जु के ससुराल भेजल गईल रहे पीड़िता के भाई आपन बहिन के दुख सुनावत आपन वीरगंज के बतवले ।

    पीड़िता के भाई आपना तरफ से बहिन के हाल खबर पुछे लाय मोबाइल किन के देहला पर भी ससुरार पक्ष वाला आपन करतूत बाहर ना आजाओ एही डर से मोबाइल फोड़ के फेंक देवेला लोग । पीड़िता के वियाह दर्ता आ नागरिकता बनावे लाय भी २०६६ के सम्झौता भईला के बाद भी २०६८ माघ तक ना बना के पीड़िता के हक मारे के बदनीयत से पति गोबिन्द आ ससुर जोखू साह के मिलीभगत मे गोबिन्द से अंश भरपाई के खुलासा भईल ।

    फेर नैहर पक्ष २०६८ माघ महिना मे नागरिकता बनावे लाय जिल्ला प्रहरी मे निवेदन दर्ता करवले रहे ओइसे ही दूधपियत बच्चा के जबर्दस्ती अपना कब्जा मे रखला के बजह से ही २०६८ फागुन महिना मे स्तनपान करावे लाय बच्चा लेवे खातिर निवेदन दर्ता करावल गईल रहे । कुछ दिन तक सब ठीकठाक रहल माकिर फेर ससुरार पक्ष के उहे रवैया रहल आ पीड़िता के साथ बेर बेर मारपीट आ घर से निकाल देहला पर मजबूरी मे पीड़िता के घर बर्बाद ना होखों यीहे सोच के प्रहरी मे जा के वीरगंज के कुछ भरभलाद्मी लोग के रहबर मे एक बर्ष के बाद ससुराल भेजल गईल भाई अशोक साह जानकारी देहले ।

    दिन प दिन बढ़ रहल दहेज के मांग आ पीड़िता प्रति के हिन्सा रोके खातिर हमनी बहुते कोशिस कैनी एकरा वावजूद भी पीड़िता के पति, सास, ननद के पिटाई करत आ ससुर गारी देहत आईल लोग । २०७३ साल कार्तिक महिना मे फेरु ससुराल पक्ष मुवावे के हिसाब से ही बहुते पीटले रहे लोग । पिटाई से बहिन के हालत देख के २०७३ कार्तिक १६ गते पीड़िता के हमनी वीरगंज के नारायणी अस्पताल मे इलाज करवले रहनी हमार घर बिगड़ जाई क़हत पीड़िता प्रहरी मे निवेदन देवे के माना कईला पर हमनी प्रहरी मे निवेदन ना देहले रही पीड़िता के भाई बतवले ।

    दु को बच्चा के माई पीड़िता रञ्जु दहेज के लोभी ससुराल से घरेलू हिन्सा के सीकार बनत दिन पर दिन समस्या बढ़त गैला से पीड़िता प्रशासन के सहायता मांगे के मजबूर हो को प्रशासन के शरण मे गईली । पर्सा जिल्ला प्रहरी मे देहल जाहेरी से जल्दी से जल्दी न्याय के आस लगवले बानी हमनी सब पीड़िता के भाई कहले ।

    advertisement

    राउर टिप्पणी

    राउर टिप्पणी लिखी
    Please enter your name here