अशोक कुशवाहा

बैसाख १२ गते देश में आईल माहाबिनाशकारी औरी प्रलयकारी प्रकृति बिपत देश के जन जीवन में अवरोध खडा कई देहलख । धीरे धीरे जनमानस लोग आपन जिनगी के राह पर लौटत रहे लोग की बीतल मंगलवार के आईल दोसरका भूकम्प घर में दारार त बनईबे कईलख पर हर जानता के दिल में भी दारार के चिन्हासी छोड़ गईल । प्राकृतिक बिपतके यी समय आपन नेपाल देश के रास्ट्रीय शक्ति, राजनेता लोग के देशभक्ति, सेना औरी नेपाल प्रहरी के देश सेवा, जानता देश भक्ति, पत्रकार लोग के दायित्व के अर्जुन परीक्षा के समय ह । ईहे समय ह जे कौन पडोसी देश दुःख के संघतिया हौवे औरी के सुख के मालूम होखेला । देश के रास्ट्रीय सक्ति या जन सक्ति अईसन प्रकृति प्रकोप में सक्षम नईखे अईसन कौनो बात नईखे । आज भले मित्र देश चाहे अन्तरास्ट्रीय समुदाय से सैनिक सहयोग, खादान्य सामाग्री सहयोग चाहे अन्य सहयोग आवत होखे बाकिर अगर देश में रहल आपन जनशक्ति औरी रास्ट्रीय शक्ति के समन्वय कर के सदुपयोग कईल जाव त हमरा नईखे बुझात की बिदेशी या अन्तरास्ट्रीय समुदाय के कौनो सहयोग के जरुरत पड़ी ।

देश के जानता में सब से साराहनीय काम मधेशी जानता कईले । भोजपुरी में एगो कहावत बा की “केहू तनलक तम्मू, केहू तनलक भगई” काहला के मतलब जेकरा जवन मिलल जुरल उहे उठा के राहत खतिरा सहयोग कईलख जेकरा ना मिलल जुरल उ खून दान औरी श्रम दान जरुर कईलख । आज मधेश के जानता में एगो बहुत बढ़िया बिचार देखे के मिलल की जब भूकम्प कोई में कौनो भेदभाव ना कईलख त हमनी काहे करल जाव । देश के सेना औरी प्रहरी गण लोग साचो देश के नायक होखे लोग । आपन घर परिवार के छोड़ के भूकम्प ग्रस्त क्षेत्र में दिन रात पीड़ित के बचाव में लागल बा लोग । नेपाल देश में हजारो के संख्या में आस्पताल बा अगर हर अस्पताल से एक एक गो डाक्टर लोग के समूह भूकम्प पीड़ित क्षेत्र में चल जाईत त सायद बिदेशी डाक्टर लोग के कौनो जरुरत ना होइत । नेपाल के दावाई कम्पनी औरी नेपाल में काम कर रहल बिदेशी दावाई कम्पनी अगर मेडिकल के सामन उपलब्ध कारादित लोग त बिदेशी दावाई के भी जरुरत ना होईत । बिदेश में कार्यरत गोरखाली सेना लोग अगर एह बिपत में छुटी लेके आपन देश के सेवा खतिरा नेपाल में वापस आजईते त सायद कौनो बिदेशी सेना के यी देश में जरुरत ना पडित । अईसन आपत के समय में देश के बजेट के आधा भी अगर भूकम्प पीड़ित के काम में लागानी हो जाईत त सायद बिदेशी आर्थिक सहयोग पर नेपाल अभी तक निर्भर ना रहित । मलेशिया, दुबई, सऊदी, क़तर, बहराइन, ओमान, कुवेत, कोरिया, इजरायल, अमेरिका, यूरोप चाहे कौनो भी देश में श्रम बेच रहल हर नेपाली एक महिना अगर आपना देश खतिरा श्रम दान कर देवेलोग त देश के पुन निर्माण में कोई भी दोसर देश के आसरा के जरुरत ना होईत ।

अभी तक आइल भूकम्प के वजह से देश में १० हाजार आदमी मर गईले, २० हाजार से ज्यादा आदमी जख्मी बाड़े औरी ५ लाख लोग घर से बेघर हो गईले । मानवीय क्षति के साथ साथे अरबो रुपैया बराबर के भौतिक क्षति भी भईल । खाली मधेश के बात कईल जाव त १० लाख से ज्यादा आदमी खतिरा हर किसिम के राहत सामाग्री भूकम्प पीड़ित क्षेत्र में गईल पर बहुत कम पीड़ित के हात में राहत सामग्री मिलल । नेपाल के राजनीति में नाताबाद औरी कृप्याबाद त जनमशिद्ध अधिकार ह । केकर केकर लिही नाम, कमरी ओढले सगरो गाव अर्थ नेपाल के लगभग सभे नेता लोग के मानसिक सोच एके बा जेकरा हात में राहत सामग्री मिलल उ मानवता के बिसर के आपन क्षेत्र में ले जाके रिश्तेदारी औरी कृपया दान में लाग गईले । जावना करते जे पीड़ित बा उ राहत से बन्चित रह गईले । बिदेश से आईल राहत के बात कईल जाव त हामरा बुझाता की जेतना राहत सामग्री बिदेश से अभी तक नेपाल पहुच गईल बा ओतना में पुरे देश के भी बाटल जाव तबो उबर जाई । पर राहत सामग्री पीड़ित के हात में पहुचला से पाहिले ख़राब हो जाता औरी मजबूरन फेंके के पड़ता । एकर एके गो कारण बा की देश में सही नेतृत्वकर्ता के कमी । देश के नेतृत्व करता नेता लोग के लगे कौनो भी उद्दारक समूह औरी उदार राहत सामग्री के समन्वय औरी ब्याव्स्थाप्न करे के क्षमता ना भईला के करते ह जे की पीड़ित के लगे राहत सामग्री चाहे उदार कार्य नईखे पहुच सकल । नेतृत्वाकरता लोग लगे अभी तक कौनो भी क्षेत्र के कौनो भी चीज के सही आकड़ा नईखे पहुच सकल । धन्यबाद बा मधेश के जे अईसन प्राकृतिक बिपत के समय में भुकुम्प पीड़ित क्षेत्र में राहत खतिरा हर सम्भव कोशिस कर रहल बा, सालाम बा नेपाल प्रहरी औरी नेपाली सेना के जे देश औरी देश के पीड़ित जानता खतिरा श्रमदान में २४ओ घंटा ब्यस्त बा, धन्यबाद बा नेपाली औरी बिदेशी मिडिया के जेकरा करते नेपाल देश में आईल बिपत में अन्तरास्ट्रीय सामुदाय के सहयोगी हात चारू ओरिया से आवे लागल, धन्यबाद बा हर उ रास्ट्र के जे आपन साह्योग नेपाल देश के भेजलख । धन्यवाद बा हर नेपाली जानता के जेकरा में अभी हरएक नेपाली खतिरा निस्वार्थी सद्भाभाव के भावना के साथ सहयोग कर रहल बा ।

advertisement

राउर टिप्पणी

राउर टिप्पणी लिखी
Please enter your name here