The biggest Bhojpuri digital media of Nepal

नेकपा के वरिष्ठ नेतागण द्वारा प्रधानमन्त्री के राजीनामा मांग

काठमाण्डू, १६ आषाढ़ ।

नेकपा अध्यक्ष केपी शर्मा ओली आ प्रचण्ड के बीच बालुवाटार बइठक मे बहस भईल बा । नेकपा के जारी स्थायी समिति के चउथका दिन के बइठक मे बितल एतवार के ओली द्वारा देहल गइल अभिव्यक्ति के ले के ओली आ प्रचण्ड बीच बहस भइल रहे । पार्टी अध्यक्ष प्रचण्ड प्रधानमन्त्री के राजीनामा दिल्ली नईखे मंगले उ मंगले बाड़े क़हत राजीनामा देवे के मांग कईले रहले ।

बइठक मे बोलत प्रचण्ड पिच्छला समय भारत हामरा के हटावे के षड्यन्त्र कर रहल बा जइसन प्रधानमन्त्री के अभिव्यक्ति से पार्टी के प्रतिष्ठा गिर रहल बतवले । मदन जयन्ती के दिने अपने भारत के विरोध मे जवन बोलनी ओसे पार्टी के प्रतिष्ठा गिरल श्रोत जानकारी देहले बा । भारत से अइसे लड़ के अंतराष्ट्रीय प्रतिष्ठा कायम नईखे कईल जा सकत श्रोत द्वारा जानकारी मिलल ।

जबाब मे प्रधानमन्त्री बइठक मे भइल बात दिल्ली के मीडिया मे कइसे जइसे के तइसे पहुचल उल्टे प्रश्न पुछले रहले । हमनी के बइठक मे भइल बात आ दिल्ली के मीडिया मे आइल बात कइसे हूबहू मिल गइल ? एकरा बारे मे गम्भीर बतकही होखे के चाहि क़हत उतेजीत होते बइठक मे उल्टे प्रश्न कईले ।

बइठक मे बोलत वरिष्ठ नेता माधव कुमार नेपाल आ झलनाठ खनाल भि प्रधानमन्त्री ओली के राजीनामा मांग कईले लोग । शुक आ शनिचर के दिने सीवान समस्या समेत के विषय मे केन्द्रित भइल बइठक एतवार के प्रधानमन्त्री आपन सरकार गिरावे खातिर भारत आ भारतीय दुतावास कईले रहे अइसन अभिव्यक्ति देहला के बाद राजीनामा ओर बात्त ले गइल गइल रहे । बइठक खातिर निश्चित एजेंडा मे प्रवेश ना कर के बइठक राजीनामा पर ही केन्द्रित भइल रहे ।

बइठक के शुरू मे बोलत अध्यक्ष पुष्प कमल दाहाल, वरिष्ठ नेता माधव कुमार नेपाल, झलनाथ खनाल आ उपाध्यक्ष बामदेव गौतम सरकार काम नईखे करे सकाल जेकरा वजह से पार्टी के गम्भीर धक्का पहुचल बा क़हत प्रधानमन्त्री ओली से राजीनामा दे के पार्टी के निकास देवे के मांग कईले एगो नेता जानकारी करवले ।

भारतीय राज्यसंयंत्र या दुतावास सरकार गिरावे के खोर रहल कह के बोलला के कवनों अर्थ ना रहे क़हत नेतागण पार्टी प्रधानमन्त्री बनवले बा आ पार्टी चाहि त हटा सकता नेता लोग बतवलख ।

प्रतिकृया
Loading...