पछतात काहे बाड…?

222

 

दिपेन्द्र सहनि
पछतात काहे बाड…?
स​ब​ गाछ​ काट​ के,प​छ​तात​ काहे बाड​…?
अब​ होता ग​र्मी त​,अगुतात​ काहे बाड​…?

 

 पंखा, AC के आद​त​ नु बा तोह​रा
त​ब​ गाछ​ के निचे ठ​न्ढात​ काहे बाड​…?

 

 वाताव​र​ण​ नास​ दिह​ल​ फैक्ट​री ल​गाके,
पानी न​ईखे प​र​त​ त​,छ​ट​प​टात​ काहे बाड​ …?

 

 किसान​ अउर खेती से न​फ​र​त​ बा तोह​रा,
फेर​ ओकरे उब्जाव​ल​ अन्न​ खात​ काहे बाड​…?

 

स​ब​ केहु देख​ चुकल​ बा तोह​र​ नचेह​रा 
अब​ मुह​ तोप​ के,लुकात​ काहे बाड​…?

 

म​छ​री के ज​ईस​न​ त​ड​प​ के म​रे के प​डी एक दिन​ 

ई त टेल​र​ ह​ पुरा पिक्च​र​ से डेरात​ काहे बाड​…?
दिपेन्द्र सहनी जी गाँउपालिका धोबिनी, टोल जगरनाथपुर-८ पर्सा नेपालके बासी हई | पेशासे एगो शिक्षक हई बाक़िर एकरा आलावा भी उहाके रुचि भोजपुरी गीत, संगीत औउरी कबिता लेखन मे बा अपना शैक्षिक पेशा से समय निकाल के भोजपुरी के सेवामे लगातार लागल रहेनी |
advertisement

राउर टिप्पणी

राउर टिप्पणी लिखी
Please enter your name here