प्रभु अस्पताल प्रकरण : जान-मरुवा अस्पताल वीरगंज के ना चाही, मृतक के भसुर साहेब कहले

944

वीरगन्ज,१५ पुष –

प्रभु हस्पिटल प्रशासन आ डाक्टर के चरम लापरवाही के कारण दु जने महिला के जान गइल के आरोप लगावत पिडित पक्ष वीरगन्ज में पत्रकार सम्मेलन कइले बा । इलाज के क्रम में बितल शुक के भइल दुगो महिला के मृत्यु के कारण प्रभु हस्पिटल प्रसासन आ अप्रेसन करेवाली प्रसुती रोग विशेषज्ञ डा. लक्ष्मी थापा के चरम लापरवाही ही रहल मृतक के रिस्तेदार लोग के किटान बा ।

मृतक अमृता श्रेष्ठ के श्रीमान मनमोहन श्रेष्ठ आ बारा पचरौता नगरपालिका वडा नं. १ निवासी दोसर मृतक सुनिता ठाकुर के भसुर साहेव ठाकुर द्वारा वीरगन्ज में सयुक्त रुप से पत्रकार सम्मेलन के आयोजना कर के अस्पताल आ डाक्टर के ही लापरवाही के चलते आपन प्रियजन के मृत्यु भइल के आरोप लगइले बा लोग ।

मृतक के परिवार के आउर सदस्य लोगन के मुताबिक अभी तक अस्पताल भा डाक्टर मे से केहु भी ऊ लोगन के मृत्यु कईसे आ काहे भइल के जवाब नईखे देहले । अप्रेसन से पहिले सब चीज ठिक रहे माकिर अप्रेसन भइला के कुछे घण्टा में ही कइसे बात बिगड़ गइल, एकर जवाब अभिन ले ना मिलल बतावत ई घटना के उच्च स्तरीय जाँच होखे के पड़ी के मांग मृतक सुनिता ठाकुर के भसुर साहेव ठाकुर पत्रकार सम्मेलन में उठइलन ।

‘एमे अप्रेसन ही ना, प्याथलोजि के जाँच सब में भी गम्भीर त्रुटी रहल बात प्याथोलोजी के रिपोर्ट देखावत साहब आगे कहानी की प्याथलोजि के रिर्पोटर में ना डाक्टर के सही बा, ना ही कवनों किसिम के दर्ता नं. बा ऊपर से खुद अप्रेसन केर के कइसे बिगड़ गइल, दवाई काम ना कैलस कह के हमनी के बतावत रहली ? अइसन गैर-ज़िम्मेवार अभिब्क्ति देवेवाला डॉक्टर के तुरुन्त करवाही करेके मांग साहब के रहे ।

अप्रेसन कर के बच्चा निकलल गइल दुनु महिला के केस में एके किसिम के कोंपलिकसन के कारण जान गइला से अस्पताल के डॉक्टर आ प्रसासन के गैर-जिम्मेवारीपन उजागर भइल बतावत पत्रकार सम्मेलन में उपस्थित अन्य सदस्य लोग ऊ अस्पताल में हर कोई के अप्रेसन से ही बच्चा के डेलीवरी कइल जा रहल आ एसे अस्पताल हर मरीज से खाली पैसा ताने के धन्दा में रहल के आरोप लगइले । अस्पताल में भर्ना भइल गर्भवती महिले में ८०% महिला के अप्रेसन ही होला, २० % के भी नॉर्मल डेलीवरी ना होला त अइसन सुविधा सम्पन्न अस्पताल वीरगन्ज के ना चाही, एसे बढ़िया रही की अस्पताल के बन्द कर के कडा जाँच होखे आ दोसी डॉक्टर पर कडा से कडा करवाही कइल जाव के मांग करत मृतक सुनीता के भासुर साहेव ठाकुर आपन आक्रोस व्यक्त कइले ।

नेपाल पत्रकार महासंघ पर्सा के सभाहल में आयोजना कइल गइल पत्रकार सम्मेलन में पिडित पक्ष के उल्लेख्य उपस्थिती बिच साहेव ठाकुर अस्पताल से रेफर करे बेर रेफर समर्री समेत ना लिखल गइल बतावत अप्रेसन करे वाली डाक्टर हमनी खातिर हत्यारा ही साबित भइल के आरोप लगइले । सम्मेलन में पीड़ित दुनु ब्यक्ति लोग प्रशासन के शरण में जाए के आ जान मारेवाला अभियोग में डाक्टर ऊपर उजुरी देवे के बतइले ।

ओने उक्त घटना बाद अस्पताल प्रसासन नेपाल मेडिकल काउन्सिल के चिट्ठी लिख के सत्य-तथ्य पता लगा देवे खातिर अनुरोध कईले बा । माकिर मृतक के रिस्तेदार के मुताबिक उक्त घटना बाद अस्पताल अपना से भइल लापरवाही के प्रमाण सब के मिटकावे में जोड तोड से लागल बतइले बा लोग ।

पत्रकार सम्मेलन में पिडित पक्ष मृतक दुनु महिला लोग गर्भवत्ती रहला के पहिलका महिना से ही डा. लक्ष्मी थापा से निरन्तर रूपसे चेकजाच करा रहल आ भर्ना, डेलेभरी सब चीज डा. थापा द्वारा ही चेकजाँच के बादे भइल जनवले बा लोग ।

अस्पताल प्रशासन छानविन खातिर गम्भीर ना रहल के आरोप लगावत एके दिन दु दु गो बड़का घटना भइला पर भी अस्पताल प्रशासन द्वारा प्रहरी प्रशासन समेत के जानकरी तक ना कइल गइल बताइले ।

वीरगंज में रहल प्रभु अस्पताल के प्रसुती करावे भर्ना भइल बारा के पचरौता नगरपालिका वडा नं. १ पिपरपाती पंचराैता निवासी सुनिता देवी आ कलैया निवासी अमृता श्रेष्ठ के डा. लक्ष्मी थापा द्वारा अप्रेसन कइला के बाद अचानक पेसाव रुकला आ दिल के धड़कन बढला से अमृता के रिफर कर के भरतपुर भेजल गइल रहे जाहा उनकर जान गइल त ओने ओमप्रकाश ठाकुर के मेहरारू सुनीता ठाकुर के प्रभु अस्पताल में ही मृत्यु हो गइल रहे ।

advertisement

राउर टिप्पणी

राउर टिप्पणी लिखी
Please enter your name here