बरात मे रोड लाईट ढोवे खातिर बच्चा सब के प्रयोग होत सम्बन्धित निकाय मौन

82
child lifting rod lights

बीरगंज(पर्सा), १ चईत

वियाह के बरात मे भारी ढोवे खातिर अधिकाश जगह पर बच्चा के प्रयोग हो रहला पर भी सम्बन्धि निकाय मौन रहल बा। पर्सा के अधिकांश बरात मे रोड लाइट ढोवे खातिर बच्चा लोग के प्रयोग हो रहल मिलला पर भी सम्बन्धित निकाय कुछों नईखे कर सकल । अनेकन निकाय द्धारा बाल मैत्री अभियान संचालन भइला पर भी गरिब, दलित, विपन्न परिवार के बच्चा के पइसा के लोभ देखाके भारी ढोवावल जा रहल बा ।

रोड लाईट मालिक अर्थात जरनेटर संचालक लोग से पुछला पर बच्चा के काहे भारी ढोवे खातिर प्रयोग करे ल प्रश्न के जवाफ मे रोड लाइट ढोवे वाला आदमी ना मिलला से बच्चा के प्रयोग कइल बतावे ला लोग । रोड लाइट ढोवला बापत प्रति व्यति रु २ सय से ५ सय तक देहला पर भी आदमी नईखे मिलत ओहिसे बच्चा लोग के प्रयोग करे के परत बा ओह लोग के कहनाम रहे ।

बाक़िर येह बिषय पर आउर लोग से बुझला पर बच्चा सब कम पइसा मे ही रोड लाइट ढोवे खातिर तयार होजाला उहवे युवा लोग जादा पइसा मांगेला एहीसे जरनेटर संचालक सब पइसा बचावे के लोभ मे बच्चा लोग के प्रयोग करेला बतईले । बच्चा सब रु २ सय से ३ सय तक मे ही रोड लाईट ढोवत मिल जाला बाक़िर युवा लोग रु ४ सय से ५ सय तक लेवेला एक बरात मे ही भेटाइल एगो व्यक्ति बतईनि।

उच्च स्तर के ब्यत्ति लोग सहभागि रहल बड़का तामझाम वाला बरात मे भी रोड लाइट बच्चा द्वारा ढोवल देखला पर भी सब कोई मौन रहेला । खास कही त उ बच्चा सब के भारी ढोवे तक के क्षमता ना रहेला बाक़िर पइसा के लोभ मे जबरजस्ती मुड़ी पर ढोके चलत रहेला ।

पर्सा के वीरगंज से लेके ग्रामिण इलाका के गाँव सब मे भी रोड लाईट ढोवे खातिर बच्चा सब के ही प्रयोग होखेला । १०/१२ बर्ष के बच्चा लोग के भी २० से ३० किलो तक के भारी रहल रोड लाइट ढोके चले के परेला । बालबालिका के क्षेत्र मे काम करेवाला संस्था के व्यक्ति लोग भी उहे बरात मे सहभागि भइल रहेला लोग बाक़िर सब कोई मौन लउकेला । जिल्ला भर बाल मैत्री अभियान संचालन रहला पर भी दतिल, मुसहर, डोम, चमार, दुसाद जाती के बच्चा सब के क्षमता से जादा भारी ढोवे खातिर निरन्तर आ निर्वाध रुपमे प्रयोग हो रहला बा, ऐ तरफ भी सम्बन्धि निकाय के ध्यान गईल जरूरी बा ।

advertisement

राउर टिप्पणी

राउर टिप्पणी लिखी
Please enter your name here