बारा, पर्सा, रौतहट लगायत मध्यमधेश में ९० प्रतिशत धान रोपाइँ सम्पन्न

    140

    बिमला गुप्ता,सावन २४ ।

    ई बरिस के मनसुन देर से शुरू भइल । मनसुन सक्रिय भइला के बाद लागातार परल पानी से खेतसब डुबान में परल जेकरा चलते किसानसब देर से धान रोपाई सम्पन्न कइले । नदी नाला से बाढ़ आ डुबान कम भइला के बाद ही बारा, पर्सा, रौतहट सहित के मधेश के किसान लोग धान रोपाइँ के तीव्रता देहले ।

    अभिन तकले करीब ९० प्रतिशत के हाराहारी में मात्र धान रोपाई सम्पन्न भइल कृषि ज्ञान केन्द्र बारा के प्रमुख जितेन्द्र यादव बतईले बाड़े । गत वर्ष के हाराहारी में ई बरिस भी धान रोपाई सम्पन्न नईखे हो सकल यादव जानकारी देहले बानी।

    सावन के १३ गते तक बारा, पर्सा आ रौतहट में करीब ६३ प्रतिशत मात्र रोपाई हो सकल रहे आ पिछिलका ९ दिन में ३७ प्रतिशत रोपाई सम्पन्न भइल कृषि ज्ञान केन्द्र बारा के प्रमुख यादव के दावी बा।

    शुरू में मनसुन देर से अइला के कारण मध्यमधेश में रोपाइँ में देरी भइल आ असार के अन्तिम सप्ताह में अत्यधिक पानी परला से बाढ़ आ डुवान के कारण रोपाइँ प्रभावित भइल रहे । अभिन आके बाढ़ आ डुवान के समस्या में कमी अइला के बाद किसान लोग धान रोपाई के तीव्रता देहला से रोपाइँ के अवस्था गत बरिस के ही हाराहारी में पुगल यादव बताइले ।

    समूचा देश भर ही ई बेर सबसे जादा बाढ़ आ डुवान से प्रभावित भइल के अवस्था में प्रदेश २ में होखेवाला ३ लाख ६५ हजार ६१५ हेक्टर में धान खेत मेंसे ३ लाख ३५ हजार ३८५ हेक्टर में मात्र रोपाइँ सम्पन्न भइल प्रदेश नम्बर २ के भूमि व्यवस्था, कृषि तथा सहकारी मन्त्रालय जनाइले बा ।

    प्रदेश २ के पर्सा जिल्ला में सब से जादा करिब ९५ प्रतिशत रोपाई सम्पन्न भइल बा त बारा में ९० औरी सब से कम रौतहट में मात्र ८० प्रतिशत रोपाई होके सकल बा । रौतहट जिल्ला एह बेर के बाढ़ आ डुवान से सबसे जादा प्रभावित भइल जिल्ला रहल बा । डुबान में परल खेत के पानी लवे लवे कम होत गइला से किसानसब धान रोपाई के तीव्रता देहले बाड़े ।

    advertisement

    राउर टिप्पणी

    राउर टिप्पणी लिखी
    Please enter your name here