बिहार में नेपाल के ‘भोजपुरी टाइम्स’ के संपादक सहित भोजपुरीया कवि लोग भईले सम्मानित

376
ajay chaurasiya

जेठ, १३ । वीरगंज । प्रभु यादव ।

भोजपुरी बौद्विक विकास मंच, भारत आ सृजन हिन्दी साहित्य परिषद केन्द्रीय कार्यालय जगधर निवास शिवपुरी जटीयाहि में सम्मान समारोह सह कवि सम्मेंलन शनिचर के पुरा भइल । सम्मान समारोह सह कवि सम्मेंलन कार्जक्रम में नेपाल आ भारत से कवि सहित्यकार लोग के सहभागिता रहल रहे । सुनिल सौरल के भोजपुरी में सरस्वती बन्दना कर के सुरू भईल कार्जक्रम में कवि लोग आपन आपन कविता आ सृजनासब बाचन कईले रहलन ।

कार्जक्रम के प्रमुख अतिथि नेपाल भोजपुरी साहित्य विकास मंच के अध्यक्ष जगदीस पकंज “पछेया पुरवईया कोईली पपिया” कविता सुनावत सहभागी लोग के फागुन के फगुवट याद करावत खेती किसानी में याद दिलवले रहलन । सृजन हिन्दी साहित्य परिषद भारत के केन्द्रीय अध्यक्ष शैलेन्द्र सुमन हिन्दी गजल सुना के सहभागी लोग के गदगद बना देहले रहलन । नेपाल के सिम्रौनगढ से आईल कवि शम्भु कुशवाहा हिमाल पर्वत के सम्बन्ध में बखान करत कविता के माध्यम से हिन्दु धर्म के सहभागी लोग के याद दिलवादेहले रहलन । विहार के ढाका से आईल कवि अलिअख्तर अब गरीब के सतावल छोडदी कविता से समाज में देरहल कुरीति के हटावे के सन्देश देहले रहलन ।

नेपाल भोजपुरी साहित्य विकास मंच के उपाध्यक्ष सफिक अंसारी का देखत बानी इ हवे लोर के पानी कविता से सहभागी लोग में दुख सुख में आख में आवेवाला नयन से ढरल लोर के बखान कईले रहनी । कवि डाक्टर लटपट ब्रजेस, अशनारायण अशोक, रामक्षत्री पंडीत, सतिषचन्द्र झा सजल, आपन आपन कविता के माध्यम से भोजपुरी समाज के पहचान झलकावत आपन रचना सुनवले रहनी । कार्जक्रम के सहभागी लोग के हास्य कवि मोतिउर्र रहमान हसाके गदगद करादेहले रहनी ।

कार्जक्रम में विश्व में भोजपुरी भाषा में पहिलका दैनिक पत्रिका नेपाल के प्रकाशक अजय कुमार चौरसिया के स्वर्गीय विश्वनाथ स्मृती अभिन्नदन पत्र, नेपाल भोजपुरी साहित्य विकास मंच के उपाध्यक्ष प्रोफेसर सफिक अंसारी के स्वर्गीय विश्वनाथ स्मृती साहित्यीक अभिन्नदन पत्र, सृजन हिन्दी साहित्य परिषद के केन्द्रीय अध्यक्ष शैलेन्द्र सुमन साहित्य कवि अभिन्नदन पत्र, सतिषचन्द्र झा सजल के सहिद श्यामकिशोर स्मृती अभिन्नदन पत्र, आशनारायण अशोक के साहित्य रचना, जगदीश पंकज नेपाल भोजपुरी साहित्य विकास मंच के अध्यक्ष से रचल छितराईल घुघुरू रचना के खातिर अभिन्नदन पत्र देके दोषला ओढा के समान कईल गईल रहल ।

पुर्व सैनिक दिनानाथ सिह के अध्यक्षता में भइल कार्जक्रम में जोकियारी पञ्चायत के मुखिया रामविनय सिह के अगुवाई में भईल जवना में गाव के सजन समाजिक लोग के सहभागिता रहल रहे । कार्जक्रम के सहजीकरण भोजपुरी बौद्विक विकास मंच, भारत आ सृजन हिन्दी साहित्य परिषद के संस्थापक डा. लटपट ब्रजेस कइले रहनी ।

advertisement

राउर टिप्पणी

राउर टिप्पणी लिखी
Please enter your name here