बढ़ रहल गर्मी मे बच्चा के स्वास्थ्य खातिर ९,५,२,१,० के फर्मुला अपनाई- डा. प्रबिन कुमार सिहं

283
बच्चा लोग के स्वास्थ्य गड़बड़ी के जांच करत डा. प्रबिन

नविन कुमार सिहं

फागुन १०

बहुते मिलनसार एवं सहयोगी बिचारधारा के धनि चर्चित युवा चिकित्सक डा‌. प्रबिन कुमार सिहं नारायणी उप-क्षेत्रिय अस्पताल के बाल तथा नवजात शिशु रोग बिभाग मे सेवारत बानी।

एम. वी. वी. एस., एम. डी. ( वि.पी.के.स्वा.वि.प्र. धरान ) कन्सलटेन्ट पेडियाट्रिसियन डा. प्रबिन कुमार सिहं से भईल बतकही मे उहा कहनी ”वसन्त ॠतु के अागमन संघे गर्मी भी बढ़ रहल बा। पिछला कुछ दिन से नारायणी उप- क्षेत्रिय अस्पताल सहित आउर अस्पताल भा बिरामी चेकजाँच करेवाला क्लिनिक सब मे मरीज़ लोग के भीड़ बढ़ गईल बा ।

खास करके बच्चा सब मे भाइरल जर, शर्दीखोकी, न्युमोनिया, दमखोकी जैसन श्वासप्रश्वास सम्बन्धी समस्या सब बहुते बढ़ल हमनी के एहसास हो रहल बा। साथ साथ फुड पोइजनिङ्ग, पेटझरी, भाइरल, हेपाटाइटिस ( जन्डिस ), दिमागी जर ( मेनिन्जाइटिस ), पोषण सम्बन्धि समस्या आ छाला सम्बन्धि एलर्जी जैसन रोग सब बच्चा के परेसान कइले बा। एहीसे माईबाबु साथे बाकी अभीभावक लोग के भी ई सिजन मे जादा सतर्कता अपनावल जरुरी बा।

आपन बालबच्चा के भाइरल जर भा शर्दीखोकी लागल आउर बच्चा भा बढ़का लोग से दुरे रखला के साथे बाहर के दोकान/होटल के चीज ना खियाई, घर मे पानी खौलके पियाई आ स्कुल मे भी उहे पानी भेजी, बसिया चीज कबो ना खियाई, घर के सरसफाइ मे हमेसा ध्यान दिही आ साथेसाथ बच्चा बिमार भईला पर झट से दवाई खियावला से निमन पहिले बच्चा के डाक्टर से, आ उ ना होई त एम.वि.वि.एस. डाक्टर के तुरन्त परामर्श लेवेके चाही। एकरा संघे बालबच्चा के लालनपालन मे ९,५,२,१,० के फर्मुला अपनावे के चाही।”

का हवे त ९,५,२,१,० के फर्मुला….?

  • ९- हरेक रात ९ घन्टा सुताई जेसे स्कुल के पढाइ मे, साथि संग के छलफल आ बच्चा के मनइस्थिति व्यवसथापन कईल आसान रही।
  • ५- पाँच या ओसे बेसी फलफुल एवं तरकारी सेवन कराई, जेकरा से भिटामिन आ खनिज के प्रशस्त मात्रा मिल सके।
  • २- दु घंटा से कम समय खातिर स्क्रिन ( टिभी मोबाइल )  जेसे मोटापा, बाध आ एकहरा दिमाग से बच्चा बाच सके ।
  • १- एक घण्टा से जादे शारिरिक क्रियाकलाप ,खेलकुद।
  • ०- मीठा पेयपदार्थहरु ना खाई काहे से की एमे बहुति क्यालोरी रहेला बाक़िर पोषण तत्व बहुते कम होला ।
advertisement

राउर टिप्पणी

राउर टिप्पणी लिखी
Please enter your name here