मधेश मे हि नमुना – मरन के भोज के खर्चा स्कुल मे दान

558

जनकपुरधाम । माघ २९ ।

मरन के भोज मजबुरी बनत गईल समय मे सिरहा के हि एक गाँव मे मरन के भोज ना करके सभी खर्चा एगो स्कुल के दान कईल गईल बा ।

मधेश मे दिन पर दिन मरन के भोज लगाएत अउर भोजसब विकृति के रुप मे हि सिरफ परिचालन भईल कहत सिरहा के कर्जन्हा नगरपालिका वार्ड नं. ११ बगहा मे सास के बरसी मे लागेवाला भोज भात के खर्चा स्कुल के दान कईल गईल बा ।

सिरहा कर्जन्हा नगरपालिका वार्ड नं. ११ के रहनीयार गुरुदयाल महतो के मेहरारु स्वर्गीय पार्वती कुशवाहा के स्मृति मे उनकर बेटि निलु सिँह आ दामाद मन्दिप कुमार महतो द्धारा वितल एतवार के मनावेला कहल बरसी के अवसर मे हिन्दु सँस्कृति के नियम मुताबिक विधि विधान से भईल माकिर भोज भात के रोपेया स्थानीय आधारभूत विद्यालय बगहा मे दान कईल गईल ।

पेशा से ईन्जिनीयर रहल मन्दिप के कहनाम भोज सिरीफ विकृति के रुप मे मजबुरी रहल कहत अभीन के २१ वा शताब्दी मे भी मरला के बाद करेवाला ई परम्परा के ओरीयावेला स्कुल मे सहजोग स्वरुप दु गो स्टिल दराज देहलेबानी ।

सहजोग कईल जिन्सी दराज स्कुल के हेडमास्टर रामकृष्ण कामर के हस्तान्तरण कईले रहलन ।

मरन के भोज मे लागेवाला रोपेया गरिब, दलित विद्यार्थी सभन के भविष्य सुधार केन्द्र के रुप मे बनल उ सरकारी स्कुल मे सहजोग कईलाबाद चारु ओरीया प्रशंसा होरहल बा ।

advertisement

राउर टिप्पणी

राउर टिप्पणी लिखी
Please enter your name here