राजमोहन नेदरल्यांड के एगो भोजपुरिया आवाज

108

राजमोहन एगो बहु-प्रतिभावान ब्यक्तित्व हउवे | गीतकार, गजलकार,भजन गवईया, पॉप सिंगर कम्पोजर, संगीतकार, लेखक आ कवि राजमोहन पिछ्ला ३० बरिस से एगो सर्बश्रेष्ठ सरनामी कलाकार के रूप में नेदरल्यांड आ सूरीनाम में आपन भोजपुरिया झंडा फहरावले बाड़े | सरनामी-भोजपुरी सिंगर आ कवि राजमोहन सूरीनाम, फ्रेंच गुयाना, साउथ अफ्रीका, मोरिसस, भारत आ बहुते यूरोपियन देशन में घूम घूम के आपन सांगीतिक  कला प्रदर्शन कर चुकल बाड़े |

सन २०११ में राजमोहन आपन पहिलका पॉप एल्बम सरनामी भोजपुरी भाषा में सर्बजनिक कईले जेमे भोजपुरी गीत हिंदी गीत आ कविता उनकरे द्वारा रचना कईल गईल रहे आ कम्पोज भी उहे कईले रहले |  उनकर सरनामी भोजपुरी एल्बम सूरीनाम के इतिहास में पहिली बेर रहे की भोजपुरी भाषा के  प्रयोग सांगीतिक क्षेत्र में सर्बजनिक रूप से संस्थागत कर के कईल गईल |

राजमोहन सरनामी भोजपुरी गीतन के आधुनिक तरीका से समय सापेक्ष गीत आ गजल के माध्यम से एगो बेजोड़ प्रयोग कईले उनकर यी नया प्रयोग सफल भईल आ सारा दुनिया उनकरा भाषिक आ सांगीतिक प्रयोग के खुबे सरहलख | उनकर नया अंदाज आ नया प्रयोग उनकार “KANTRAKI” (२००५) एल्बम में देखल जा सकता | सरनामी भोजपुरी गीत आ गजल के ऊपर निरन्तर आ अथक नया नया प्रयोग में जुटल राजमोहन के भोजपुरी सांस्कृतिक गीत आ गजल के नया स्वरुप के साथ पॉप स्टाईल में उनकर “दायरा DAAYRA” -२०११  देखल जा सकता |

राजमोहन के ५ गो म्यूजिक  एल्बम रिलीज हो चुकल बा ( एगो भजन एल्बम अनूप जलोटा के साथे , दोसर  बुक विथ सरनामी-भोजपुरी पोयम्स, तीसर कांटरकी, चौउथा दायरा  आ पाचवा  उनकर सब से नया एल्बम ह “दू मुठ्ठी” (२०१३) जवना के १४० वा इंडियन इमिग्रेशन टू सूरीनाम के अवसर पर रिलीज कईल गईल रहे |

advertisement

राउर टिप्पणी

राउर टिप्पणी लिखी
Please enter your name here