लिखित समझौता करे खातिर सत्तारूढ़ दल असहमत, उपेन्द्र यादव के कपरबथी बनल राजपा

219

काठमाडौँ, ५ चईत

फोरम के अध्यक्ष उपेन्द्र यादव सारकार मे आवे खातिर संबिधान संसोधन के बात लिख के लिखित सहमति करे के अडान रख्ले बाडे पर उनकर लिखित सहमति के अडान पार खारा उतरे खातिर प्रधानमन्त्री सहित सत्तारूढ़ गठबंधन इक्छुक नईखे ओहिसे संघीय समाजबादी फोरम के सत्तारोहण के कार्यक्रम तनी आगा बढे के संकेत देखल जा सकता |

उपेन्द्र यादव संबैधानिक धारा के मुताबिक संबिधान संसोधन आपसी सहमती होखो कह कह लिखिती समझौता करे के आडान कईले उहे बाम गठबंधन के नेता लोग जरुरत आ नियम के आधार पर संबिधान संसोधन के आधार पर आपसी सहमती भईला के बाद लिखित सहमति के कौनो जरूरत नईखे कहले बा लोग |

संबिधान संसोधन के सन्दर्भ में बिना लिखित समझौता के सरकार में ना जाएके पार्टीगत दबाब के कारण ही उपेन्द्र यादव लिखित समझौता के आडान पर अडिग बाड़े | सारकार में जाए के मन बना चुकल बहुते नेता लोग प्रधानमन्त्री जब सर्बजनिकरूप से संबिधान संसोधन के बात कह देहला के बाद लिखीत समझौता के आडान बेकार बा कह के बतवले |

राजपा के रोक के लिखित सहमती कर के फोरम अकेले सरकार में जाएके सोच रखले उपेन्द्र यदाव के यी समझौता पत्र पर प्रधानमन्त्री सहित कौनो सत्तारूढ़ दल हस्ताक्षर करे के इक्छुक ना भईला से समस्या हो गईल बा आ बिना लिखित समझौता के सरकार में गईला से मधेसी जनता में असंतुष्टि के बाताबरण बनी आ ओकर फायदा राजपा के होई एकर डर भी उपेन्द्र यदाव के सता रहल बा  |

 

advertisement

राउर टिप्पणी

राउर टिप्पणी लिखी
Please enter your name here