२२ ओ जिल्ला के जोड़त वीरगंज से शुरू भईल “भिजिट मधेस नेपाल अभियान”

    66

    वीरगंज, १७ कातिक ।

    नेपाल भ्रमण मे आवेवाला विदेशी पर्यटक लोग के तराई मधेस के जिल्ला मे रहल पुरातात्विक आ पर्यटकीय जगहन ओर आकर्षित करे खातिर भिजिट मधेस नेपाल अभियान शुरू कईल गईल यी अभियान के राष्ट्रीय संयोजक ओम प्रकाश सर्राफ जानकारी करवले ।

    मधेस मे भी पर्यटन के संभावना बा पर जेतना पहल आ प्रयास होखे के चाही ओंतना नईखे भईल सर्राफ कहले । हमनी ईहा के एतिहासिक, धार्मिक आ पर्यटकीय जगहन सब के प्रचार प्रसार कर के बाहर आ भीतर दुनु तरफ के पर्यटक के आकर्षित कर के यीहा लियावे तक मे बिशेष भूमिका निभाएम सन । “भिजिट मधेस नेपाल अभियान” काल सुक के दिने वीरगंज मे आपन पहिलका कार्यक्रम कईले बा सर्राफ जानकारी देहले ।

    कार्यक्रम मे प्रदेश २ के पर्यटन राज्यमन्त्री सुरेश मण्डल कहले, प्रदेश २ मे भी पर्यटन के बहुते संभावना बा । गौतम बुद्ध के जन्मभूमि, जनक, सीता आ सलहेस के भूमि, एतिहासिक आ धार्मिक दुनु हिसाब से मधेस के भूमि पवित्र भूमि बा मण्डल कहले, यूरोप, अमेरिका, गल्फ सहित अनेक मुलुक से आवेवाला विदेशी पर्यटक के सिमरौनगढ़, गढ़ीमाई, जनकपुर आ लुम्बिनी जइसन जगहन पर आकर्षित कईल जा सकता । ओकरा खातिर सकारात्मक ऊर्जा के साथ साथे प्रचार प्रसार के बहुते आवश्यकता बा । पर्यटक के खातिर बढ़िया खाना, रहे के ब्यावस्था आ यातायात के सुविधा देवे सके के ब्यवस्था जरूरी बा ।

    कार्यक्रम मे बोलत वीरगंज महानगरपालिका के मेयर विजय कुमार सरावगी तराई मधेस मे पर्यटन क्षेत्र मे लगानी करवावे खातिर जरूरी रहल बतवले । पर्यटन आ कृषि के संघ संघे जोड़ के आगा बढला पर प्रदेश के स्मृद्धि मे बहुते बड्का योगदान पहुची बतवले ।

    भारतीय महावाणिज्य दूतावास वीरगंज के दूत विसी प्रधान भारत आ चीन जईसन बड़का बड़का देश के बीच मे रहल प्रकृतिक सुंदरता से भरल नेपाल पर्यटन आकर्षण मे ध्यान दे के पूर्वाधार खाली खाड़ा कर देहला से होई कहले । प्रधान कहले जलबिधूत के उत्पादन के साथ साथे पर्यटन आकर्षित नेपाल के बढ़िया लाभ पहुची बतवले ।

    पत्रकार चन्द्र किशोर आदमी लोग राजनीतिक पहिचान मिलला के बाद अलग क्षेत्र मे पहिचान खोजेलागेला लोग कहले । प्रदेश २ मे रहल एतिहासिक धार्मिक आ पर्यटकीय जगहन के संरक्षण आ प्रचार प्रसार जरूरी रहल यी बात पर जोड़ देहले ।

    advertisement

    राउर टिप्पणी

    राउर टिप्पणी लिखी
    Please enter your name here