The biggest Bhojpuri digital media of Nepal
Browsing Category

भाषिक

सिमरौनगढ़ के भाषा के अस्तित्व

  मध्यकालीन भाषा सम्बन्धी जदि काठमाण्डु में रहल मल्लकालिन साहित्य के शोध कएल जाओ त एगो बहुत बड़का राज उजागर होख’लई जउन अभी ले सब केहु से लुकावल जाईत रहलै ह। सिमरौनगढ़ से अंग्रेज़ी के प्रोफ़ेसर सुनिल मिश्र जी एगो बात पर जोर देव’लईन कि बज्जिका न त भोजपुरी है, आ न मैथिलीए। एकर सबूत […]

भोजपुरी रत्न : भिखारी ठाकुर के संक्षिप्त परिचय

लोक कलाकार भिखारी ठाकुर के जन्म 18 दिसम्बर 1887 में बिहार के सारण जिला के कुतुबपुर गांव में भइल रहे । अपना जनम प भिखारी ठाकुर लिखत बानी कि – बारह सौ पंचानवे जहिया , सुदी पूस पंचिमी रहे तहिया । रोज सोमार ठीक दुपहरिया, जन्म भइल ओहि घरिया ॥ अपना जीवन चरित के बारे […]

जयन्ती विशेष : भोजपुरी के अनमोल रत्न, भोजपुरिया शेक्सपियर भिखारी ठाकुर के नमन

वीरगंज, पुष ४ । भोजपुरी भाषा के शेक्सपियर कहल जाए वाला भिखारी ठाकुर के १३१ वां जन्म जयंती काल्हू १८ दिसम्बर के रहे । भिखारी ठाकुर के बिना भोजपुरी साहित्य अधूरा बा । माटी से जुडल ई भाषा के माटी के पहचान से जोड़े में भिखारी ठाकुर के महत्वपूर्ण योगदान बा। जवना ज़माना में हिंदी […]

भारतीय प्रम मोदी के अभिनंदन में भोजपुरी नईखे, काहे ?

वीरगंज, २६ बईशाख // भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र दामोदरदास मोदी बईशाख २८ गते शुक्रवार के दिन नेपाल के जनकपुर आ रहल बानीं। प्रधानमंत्री मोदी के जनकपुर के जानकी मंदिर में पूजा-अर्चना के कार्यक्रम बा । एह मोका प प्रदेश-२ के समूचा जनता के साथे-साथे पूरा नेपाल में हर्षोल्लास व्याप्त बा । प्रधानमंत्री मोदी के अईला से नेपाल-भारत […]

भाषा आ बाजार के संदर्भ में भोजपुरी

भूमि आ भूमिपुत्र पर कब्जा करे के क्रम में सामंती साम्राज्य के विकास भइल त बाजार के खोज में पूंजीवादी साम्राज्य के विकास भइल बा । विरान लोग के शासन से मुक्ति के क्रम में बितल शताब्दी के उत्तरार्ध में अनेको उपनिवेश स्वाधीनता प्राप्त कइलख त अड़ोसी–पड़ोसी के शासन यानी आंतरिक उपनिवेश से मुक्ति के […]

आजु के भोजपुरी गीत–संगीत के अवस्था पर एक नजर आ कईसे होई सुधार पर विचार

-संजय संयोग मानव सभ्यता के शुरुवात के सँगे ही गीत सग्ीत के शुरुवात भइल बात के पुष्टि हमनी के इतिहास बता रहल बा । काहे कि मानव जाति के ही ना ई पृथ्वि पर रहेवाला हरेक जीव–जानवर के संगीत से लगाव रहेला, जइसे सपेरा लोग बिन बजा के कइसनो जहरिला साँप के अपना बस में […]

भोजपुरी भाषी क्षेत्र में प्रारम्भिक शिक्षा

हमरा लइकाइ में गाँवन में शिक्षा प्राप्त करे के खातिर कवनो नियमित आ औपचारिक व्यवस्था उपलब्ध ना रहे , ना कवनो पाठशाला, ना कवनो शिक्षक, नाही कवनो अवसर प्राप्त रहे । परिवार के नियोजन के एहतियातन ना कवनो सामग्री आ नाही कवनो उपाय उपस्थित रहला के बावजूद सब गृहस्थ के परिवार प्रायः नियोजित हीं रहे […]

राजमोहन नेदरल्यांड के एगो भोजपुरिया आवाज

राजमोहन एगो बहु-प्रतिभावान ब्यक्तित्व हउवे | गीतकार, गजलकार,भजन गवईया, पॉप सिंगर कम्पोजर, संगीतकार, लेखक आ कवि राजमोहन पिछ्ला ३० बरिस से एगो सर्बश्रेष्ठ सरनामी कलाकार के रूप में नेदरल्यांड आ सूरीनाम में आपन भोजपुरिया झंडा फहरावले बाड़े | सरनामी-भोजपुरी सिंगर आ कवि राजमोहन सूरीनाम, फ्रेंच गुयाना, साउथ अफ्रीका, मोरिसस, भारत आ बहुते यूरोपियन देशन में […]

कामकाजी भाषा के बहसः भोजपुरी के सामर्थ्य

अनेको असंतुष्टी, विरोध, आंदोलन, संघर्ष के बावजूद नेपाल के संविधान लागू होके अभीन संघीय लोकतांत्रिक गणतंत्र कार्यान्वयन हो रहल बा । संविधान के सैद्धांतिक आ व्यवहारिक दूनू पक्ष पर समर्थन आ विरोध के स्वर गुंजिए रहल बा । एकरा बावजूद जब स्थानीय तह से लेके प्रादेशिक आ संघीय संसद के चुनाव संपन्न होके सभी जगह […]

विश्व दृष्टान्त अा मधेश में भाषा ?

  कहल जाला कि धर्म सबसे बेसि कट्टर होला, बाकिर यदि भाषिक नीति निमन से ना बनावल जाई त ऊ धर्म के भी सिवान नांघ सकता । भाषा ही के कारण विश्व में केतना देश के टुक्रा हो गइल । हमनी के परोसिया भारत आ पाकिस्तान के बटवारा के पिछे उपर से देखला पर भले […]

भोजपुरियन के ऊपर षड़यन्त्र

भोजपुरियन के ऊपर षड़यन्त्र – बेचु गौड़ भाषिक समूह के जनसांख्यिक आधार पर विश्व के आठवाँ स्थान पर रहल भोजपुरी आज राजनीतिक खिचातानी अउर स्वार्थ के कारण संकट में बा । १३ करोड से जादा संख्या रहल भोजपुरियन के भारतो में प्रदेश विभाजन के समय उत्तर प्रदेश अउर बिहार में बँटले के नाते भोजपुरी भाषा […]

भाषा के मेल आ दुरदुरावल भोजपुरी

भाषा के मेल आ दुरदुरावल भोजपुरी भारत एगो अइसन देश ह जहवा फरक फरक पहिनावा, बोलचाल, धर्म आ सोच के लोग रहेला । बाकिर ई सभन के एकेगो चीज एक जईसन बा की उ लोगन के पहिचान भारत देश से होला । केहू देवनागरी लिपि से लिखे ला आपन भारतीय होखे के पहिचान त केहू […]

भोजपुरी भाषा के बिकास मे नया पीढ़ी के आवश्यकता : वास्तविकता अवुरी सम्भावना । भोजपुरी जागरण – १०

भोजपुरी जागरण – १० “भोज में पूरी औरी भाषा में भोजपुरी के बाते कुछ और बा “ भोजपुरी भाषा के बिकास मे नया पीढ़ी के आवश्यकता : वास्तविकता अवुरी सम्भावना । देश बिदेश में फैलल भोजपुरी भाषा, साहित्य अवुरी भोजपुरी संस्कृति के महत्व के देख के आज भोजपुरी भाषा, साहित्य, गीत, संगीत अवुरी संस्कृति में […]

अब चिपरी ना पाथी मुनिया ! (महिला सशक्तिकरण )

अब चिपरी ना पाथी मुनिया ! ए माई, काल्ह से हमार इम्तिहान शुरू होता, हमार गत्ता एकदम फाट गइल बा नया कीन द। भइया त हर बेर परीक्षा खतम होत होत गत्ता चबा जाला आ तूं ओकरा के नया कीन देलू, अबकिर हमरो नया गत्ता चाहीं ना त हम स्कूल ना जायेम। एतना सुनत मुनिया […]

भोजपुरी भाषा अउरी विकास । भोजपुरी जागरण – ११

भोजपुरी जागरण – ११ “ना बोलला के मतलब इनकार ना होखेला, हर नाकामयाबी के मतलब हार ना होखेला, का होगइल भोजपुरी के भाषिक दर्जा ना मिलल त, खाली दर्जा पावल ही भाषिक प्यार ना होखेला” भो जपुरी भाषा के इतिहास देखला पर ई भाषा के शुरुवात सातवा सताब्दि में शुरु भइल कुछ विज्ञलोग बतावेला । […]

भोजपुरी भाषा हमार माई ह, लजाई काहे ?

भोजपुरी भाषा हमार माई ह, लजाई काहे ? जईसन कि आदत बा, मेट्रो मे चढ़ते हम गेटके लगे कोना मे खड़ा हो गईनी । अबही कुछ देर ही भईल रहे खड़ा भईले कि बहुत धिरे से एगो आवाज कान मे पड़ल,‘नायका दवईया से बाबूजी के आराम बा नु ?’ मुड़ के देखनी त हमरा ठीक पीछे बईठल […]

सिनेमा बिना कवन अकाज हो जाई ?

  एह सवाल के पुछे से पहिले इ पुछे के चाही कि का कहानी, लिखल, सुनावल जरूरी बा ?बा त केकरा खातिर ? लिखेवाला खातिर के पढे भ सुनेवाला खातिर ? हजारन साल पहिले राम, सीता, रावण आ लछमन के कहानी बतावल गईल । का जरूरी रहे बतावल ? अर्जुन, कृष्ण के का कहलन कुरुछेत्र […]

भोजपुरी जागरण ६ – नेपाल के भोजपुरी अउरी अश्लीलता !

“दोहा के रंग जम गईल भाषा भोजपुरी के संग अश्लीलता के साथ लडल जाव भोजपुरी के जंग“ नेपाल में भोजपुरी भाषा नेपाल देश के जनम के पहिले से चलल आइल बहुते पूरान भाषा ह । भोजपुरी भाषा एगो बहुते समृद्ध भाषा ह, एही के करते आज ई भाषा विश्व स्तर पर बहुते सुनदरता के साथ […]

भोजपुरी जागरण ७ – “नेपाल के शिक्षा प्रणाली औरी भोजपुरी भाषा !”

भोजपुरी जागरण ७ – “नेपाल के शिक्षा प्रणाली औरी भोजपुरी भाषा !” नेपाल में भोजपुरी भाषा नेपाल देश के जनम के पहिले से चलल आईल बहुते पूरान भाषा ह । भोजपुरी भाषा एगो बहुते समृद्ध भाषा ह एही के करते आज यी भाषा बिश्व स्तर पर बहुते सुनदरता के साथ करोडो जनमानस के बिच बोलल […]